Bhavan's NAVNEET   This page is available in ENGLISH also
समय... सहित्य... संस्कृति...
 
यहाँ पत्रिका ज्ञान पिपासा को शांत करने और साहित्य संस्कृति के संवर्धन अवं प्रचार प्रसार में अग्रणी है.
बाजारवाद से समजोता न करना आपकी सबसे बड़ी विशेषता है.
धीरे धीरे मै 'नवनीत' का कायल होता जा रहा हूँ. पत्रिका कि आवरण कथाएं काबिले तारीफ है.
इसे पढ़ें
इसे संकलित करें
इसे संजोयें
अपनी अगली पीढी के लिए
बेहतर कल के लिए
एक अमूल्य उपहार के रूप में
नवनीत का ग्राहक बनाएं.
नवनीत में विज्ञापन के कई स्वरुप उपलब्ध हैं. नवनीत के माध्यम से आप अपने उपभोक्ताओं तक बेहतर ढंग से पहुँच सकते हैं. विस्तारपूर्वक जानकारी एवं विज्ञापन दरों के लिए नीचे क्लिक करें.
  क्लिक करें
नवनीत :हिंदी मासिक पत्रिका
60 साल पहले एक बीज बोया गया था, जो आज फलों-फूलों से लदा वृक्ष बनकर समाज को सदविचारों की छाया दे रहा है. देश के आज़ादी प्राप्त करने के पांच वर्ष बाद ही 1952 में स्वर्गीय श्री गोपाल नेवटिया ने हिंदी में एक डाइजेस्ट प्रकाशित करने की ज़रुरत महसूस की थी. इसी कामना ने नवनीत को जन्म दिया, जो पिछले 60 साल से निरंतर प्रकाशित हो रहा है.
आज नवनीत संभवतः हिंदी की सबसे पुरानी मासिक पत्रिका ही नहीं है,देश की सबसे महत्वपूर्ण पत्रिकाओं में इसकी गणना होती है. साहित्य, संस्कृति और समाज की धमनियों को समझने, उनकी धड़कनों को आवाज़ देने और समय को दिशा देने की एक सार्थक समझ और कोशिश का एक नाम है नवनीत.
भारतीय विद्या भवन द्वारा प्रकाशित यह पत्रिका उन मूल्यों और आदर्शों की संवाहक है जो भारतीय संस्कृति को एक पहचान देते हैं.
समय की आवश्यकताओं को समझकर उनके अनुरूप स्वयं को ढालने और उन आवश्यकताओं की पूर्ति करते हुए, समय की शक्तियों को गति देने का एक अविराम संकल्प है नवनीत.
हिंदी और अन्य भारतीय भाषाओं के शीर्ष रचनाकारों की लेखनी के माध्यम से यह पत्रिका सांस्कृतिक पत्रकारिता की एक पहचान बन चुकी है.
विषयों की विविधाता और गहराई के साथ उनका विश्लेषण नवनीत की विशेषता है और पुरानी तथा नई पीढ़ी के लिए सार्थक सामग्री नवनीत को विशिष्ट बनाती है.

संपादक : विश्वनाथ सचदेव
सम्पादकीय एवं प्रशासनिक कार्यालय :
नवनीत
भारतीय विद्या भवन
कुलपति डॉ. के. एम्. मुंशी मार्ग, चौपाटी, मुंबई 400 007
फ़ोन : 022-23631261 / 23634462
फैक्स : 022-23630058
इ-मेल :navneet.hindi@gmail.com
सदस्यता शुल्क
12 अंक प्रतिवर्ष
एक प्रति का मूल्य : Rs. 30/-
विशेषांक का मूल्य : रूपये . 40/-
भारत में:
एक वर्ष के लिए : रूपये . 300/-
दो वर्ष के लिए रूपये . 580/-
तीन वर्ष के लिए रूपये . 850/-
पांच वर्ष के लिए रूपये . 1400/-
दस वर्ष के लिए रूपये . 2800/-
विदेश में (एक वर्ष के लिए) सदस्यता शुल्क :
सी मेल रूपये . 1500/-
एयर मेल रूपये . 2600/-
तुरंत सदस्यता प्राप्त करने ...
ऑनलाइन पेमेंट गेटवे या नेट बैंकिंग का उपयोग करें.
ऑनलाइन पेमेंट गेटवे
क्रेडिट/डेबिट कार्ड द्वारा सदस्यता शुल्क के भुगतान के लिए यहाँ (क्लिक करें)
नेट बैंकिंग/ सीधे भुगतान *
  1. आप चेक या नकद आई डी बी आई की किसी भी शाखा में जमा कर सकते हैं
  2. अपने बैंक अकाउंट से हमारे बैंक अकाउंट में रूपये स्थानांतरित करने के लिए नेट बैंकिंग का उपयोग करें.
बैंक खाता बैंक का नाम : आई डी बी आई बैंक
अकाउंट का नाम : भारतीय विद्या भवन
अकाउंट नं. :0166104000034706
अकाउंट का प्रकार: बचत अकाउंट
शाखा का नाम : नानाचौक शाखा
आई एफ सी कोड :IBKL0000166
* कृपया भुगतान के बाद ग्राहक का नाम, पता, फोन नं., ई मेल आदि webmaster@bhavans.info पर अवश्य भेजें.
This issue is now available online in Digital Format. Till the 15th SAMPLE PAGES will be available and after 15th the entire issue will be available online TOTALLY FREE!
CLICK HERE
वर्ष : 2 अंक:10जून 2017
कुलपति उवाच
03 सत्व, रजस और तमस
के.एम. मुनशी
अध्यक्षीय
04 योग
सुरेंद्रलाल जी. मेहता
पहली सीढ़ी
11 प्रदूषण
गोविंदचंद्र पाण्डे
आवरण कथा
12 तितली को कब देखा था आखिरी बार?
सम्पादकीय
15 आइए, प्रकृति से दोस्ती करें
सुरेश ऋतुपर्ण
21 प्रकृति के घर में आदमी
ध्रुव शुक्ल
25 पंख, पंखुड़ियां, तितलियां, वृक्ष...
प्रयाग शुक्ल
29 प्रकृति के भावी आतंक की चुनौती
डॉ. नताशा अरोड़ा
35 पृथ्वी गरम हो रही है
राजकुमार कुम्भज
40 हे धरती मां!
राजीव कटारा
आलेख
41 कुछ लाख रसोइये चाहिए
सोपान जोशी
63 बाज बटेर एक लड़ाऊं!
कुबेरनाथ राय
71 संगीत के माध्यम से परम तत्व से जुड़ने वाली प्रखर तपस्विनी
होमी दस्तूर
77 टेसू (पलाश)
मारुति चितमपल्ली
89 कला पश्मीने की '...खुद को तपाना पड़ता है'
निर्मला डोसी
95 शिक्षा व्यवस्था की चिंताजनक सच्चाई
डॉ. माधव चव्हाण
109 मेघदूत `नाचत मोरा'
संतन कुमार पांडेय
123 फूलों ने सृष्टि बदली
लारेन इजली
138 किताबें
कथा
83 शोर
इंतिज़ार हुसैन
127 वृक्ष प्रतीक्षा में है...
देवेंद्रकुमार मिश्रा
134 भयावह जंगल
प्रभाकर श्रोत्रिय
कविताएं
28 चंद्रभागा में सूर्योदय
प्रयाग शुक्ल
70 तीन कविताएं
वेद राही
82 उठ मेरी बेटी....
सर्वेश्वर दयाल सक्सेना
117 फूल झरे
बुद्धिनाथ मिश्र
नोबेल कथा
51 एक भावी पिता
सॉल बैलो
धारावाहिक उपन्यास भाग - 2
100 मैं जोहिला
प्रतिभू बनर्जी
व्यंग्य
112 एक सांझ मरघट के नाम!
महेश चंद्र शर्मा
शब्द-सम्पदा
136 `आना जी बादल ज़रूर'
विद्यानिवास मिश्र
समाचार
140 भवन समाचार
144 संस्कृति समाचार
QUICK LINKS
  Bhavan's Books   Periodicals   Our Websites   Bhavan's (H.O), Mumbai
 
Online Bookstore
Locate A Store
Catalogue
Book Enquiry
 
Bhavan's Journal
Bhavan's Navneet
Navneet Samarpan (Gujarati)
Dimdima
Bharatiya Vidya
Samvid
Astrological Journal
 
www.dimdima.com
www.dimdimamagazine.com
www.navneetsamarpan.com
www.navneethindi.com
www.amritabharati.info
Gandhi Institute Website
www.bhavanslibrary.org
www.events.bhavans.info
 
Bhavans Kala Kendra
Bharatiya Sangeet & Nartan Shikhsapeeth
Jyotish Bharati
Bhavan's Library
Sanskrit Studies
Forthcoming Events
--: Bhavan - Chowpatty
--: Bhavan - Andheri